श्रीलंका के इस गुफा में पाया गया रावण का मृत शरीर ।। जानिए 10000 साल पहले की रहस्यमय घटना

श्रीलंका में ऐसे कई ऐतिहासिक स्थल मौजूद है जिनका जिक्र रामायण में किया गया है। ऐसे में इनकी रोचक जानकारी में हर किसी को दिलचस्पी रहती है।

पुरातत्व विभाग ने श्रीलंका में पचास से अधिक ऐसे स्थलों की जानकारी होने की खबर दी है जिनका जिक्र रामायण में किया गया है। इस विभाग की रिसर्च टीम का दावा है कि श्रीलंका के रैगला के घने जंगलों में स्थित एक ऐसी गुफा का पता चला है जिसमें लंकापति रावण का शव एक ताबूत में सुरक्षित पड़ा हुआ मिला है।

ऐसा माना जाता है कि 10000 वर्ष पूर्व रावण का वध प्रभु श्री राम के हाथों हुआ था। हालाँकि सटीक समय का पुख़्ता प्रमाण मौजूद नहीं है लेकिन पौराणिक कथा ऐसा ही दर्शाती है।

ऐसा कहा जा रहा है कि श्रीलंका की यह रहस्यमयी गुफा 8000 फ़ीट की ऊंचाई पर स्थित है। चूंकि रावण के शव एवं ताबूत पर एक ख़ास तरह का लेप लगाया हुआ है इसलिए वह शव बिलकुल सुरक्षित है।

श्रीलंका के इंटरनेशनल रामायण रिसर्च सेंटर की माने तो रावण के शव वाले ताबूत की लम्बाई 18 फ़ीट और चौड़ाई 5 फ़ीट है। ऐसी धारणा बनी हुई है कि इस ताबूत के नीचे लंकापति का खजाना भी दबा हुआ है जिसकी पहरेदारी विषधर नाग एवं अन्य खूंखार जीव जंतु करते है।

कहा तो यह जाता है की विभीषण ने राजगद्दी सँभालने के क्रम में रावण के अंतिम संस्कार में देर कर दी और उसी दौरान नागकुल के लोग रावण का शव उठा कर ले गए। उन्हें उम्मीद थी कि रावण पुनर्जीवित हो जाएंगे लेकिन ऐसा नहीं होने पर उन लोगों ने एक विशेष औषधियुक्त लेप लगाकर शव को एक ताबूत में रख दिया जो आजतक सुरक्षित है।

हालाँकि स्पष्ट प्रमाणों का अभाव है फिर भी लोगों का अटल विश्वास है कि श्रीलंका में ही रामायण से जुड़े कई चिन्ह एवं तथ्य मौजूद है जैसे अशोक वाटिका, हनुमान जी के पैरों के निशान इत्यादि।

Today's Special Discounted Deals

You may also like...