अत्यंत गुणकारी गन्ने का रस आपको पहुंचा सकता है हानि।। जानिए कब और कैसे

कई बीमारियों को दूर करने की क्षमता रखने वाले गन्ने का रस बेहद स्वादिष्ट, गुणकारी एवं सेहतमंद है लेकिन अगर हम कुछ सावधानियां ना बरतें तो यह गुणकारी के बजाए हानिकारक हो सकता है। त्वचा निखारने में इसका कोई सानी नहीं है। इसमें कैल्शियम, पोटैशियम, आयरन, इत्यादि ज़रूरी पोषक तत्व पाए जाते है जो हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत ही लाभकारी हैं। हृदय रोग एवं सुचारु पाचन क्रिया में इसका लाभ सर्वविदित है।

भीषण गर्मी में थकान से ग्रसित निढाल व्यक्ति में यह तत्काल ऊर्जा प्रदान कर उसे तरोताजा करने का काम करता है। वर्षों से लिवर के फायदे के लिए इसका प्रयोग किया जाता है। लिवर सम्बंधित बीमारी ‘पीलिया’ में यह विशेष लाभकारी है।

ऐसा गुणकारी गन्ने का रस भी कभी घातक बन जाता है!

इस रस को तुरंत पीना चाहिये। इसके सेवन में विलम्ब करने पर यह पोषण देने के बजाए नुकसानदेह साबित हो सकता है क्योंकि यह बहुत जल्दी ऑक्सीडाइज़्ड हो जाता है।

 

इस रस का अत्यधिक सेवन करने से वजन में बढ़ोतरी हो सकती है जो कि स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है।

 

बलगम या खांसी से पीड़ित व्यक्ति को इसके सेवन से बचना चाहिए।

 

 

यह भी देखा गया है कि गन्ने के रस का नियमित सेवन करने वाला व्यक्ति अनिद्रा से ग्रसित हो सकता है तथा वह मधुमेह जैसी घातक बीमारी की चपेट में आ सकता है।

 

पेट कि समस्या से पीड़ित व्यक्ति को यह रस नुक्सान पहुंचा सकता है क्योंकि उसे अत्यधिक दस्त हो सकते है।

 

 

जिसके दांतों में कीड़े लगे हो उसे गन्ने के रस से परहेज रखना चाहिए क्योंकि यह दांत कि पीड़ा को तीव्र कर सकता है।

 

एसिडिटी होने पर इस रस से दूरी बनाने में ही भलाई है क्योंकि यह पाचन तंत्र को कमजोर कर सकता है।

 

इसलिए ध्यान रहे की गन्ने के रस का सेवन इन परिस्थियों में ना किया जाये।

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published.