चाय के दीवानों के लिए बड़ी चेतावनी: शरीर के लिए है बेहद हानिकारक

चाय आज एक प्रिय पेय है और यह हमारे जीवन-चर्या का अभिन्न हिस्सा बन चुकी है। शायद ही कोई व्यक्ति ऐसा होगा जिसके सुबह के नाश्ते में चाय सम्मिलित ना हो।

यूं तो माना जाता है कि चाय की चुस्कियां लेते ही शरीर में एक ताज़गी भर जाती है लेकिन चाय वह पेय है जिसकी लत पड़ते देर नहीं लगती और अनायास ही इसके सेवन में तीव्र वृद्धि होती है।

चाय के सेवन में हमें कुछ सावधानियां बरतने की ज़रूरत है। सबसे पहले इस बात का ख़ास ध्यान रखना चाहिए कि सुबह खाली पेट चाय नहीं पीनी चाहिए। जिस व्यक्ति को सुबह बिस्तर से उठते ही चाय पीने की आदत रहती है वह एसिडिटी, बदहज़मी, अपच जैसी बीमारियों से ग्रसित हो जाता है। चाय के आदि होने वाले व्यक्ति को यदि समय पर चाय नहीं मिलती तो उसे सर दर्द होने लगता है। लम्बे समय तक चाय का सेवन हड्डियों को कमज़ोर कर देता है।

मादक पदार्थ जैसे कि शराब, तम्बाकू, इत्यादि को तो हम प्राण घातक व्यसन मानते है। हालाँकि प्रिय पेय चाय को हमने प्रेम पूर्वक अपना रखा है लेकिन वास्तव में यह सभ्यता का विष है। अनेक चिकित्सकों का कहना है कि चाय ह्रदय के कार्य का बोझ बढ़ा देती है और फेफड़ों को बहुत अधिक मात्रा में कार्बोलिक एसिड गैस निकालना पड़ता है। चाय का अत्यधिक सेवन का कुप्रभाव अक्सर गुर्दों पर भी देखा जा सकता है।

मधुमेह की तेज़ी से बढ़ती समस्या के कारणों में चाय भी एक कारण है। दिन में कई बार इसका सेवन हमारी आदत बन चुकी है और इसलिए अनावश्यक रूप से बड़ी मात्रा में चीनी हमारे शरीर में जाती है जो मधुमेह को बढ़ावा देती है। अतः चाय पीने की लत को सीमित रखना आज के दौर में बहुत ज़रूरी हो गया है।

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published.