दीपावली के शुभ सन्देश

॥ ॐ महलक्ष्म्यै नमः ॥
दीयों की रौशनी से झिलमिलाता आँगन हो , पटाख़ों की गूँजो से आसमान रोशन हो ,
ऐसे आये झूम के यह दिवाली , हर तरफ खुशियों का मौसम हो।

कोयल को आवाज मुबारक, आवाज को सुर मुबारक
सुर को संगीत मुबारक, और आपको हमारी तरफ से
दिवाली मुबारक

“स्वर्ग लोक से माता लक्ष्मी; ब्रम्ह लोक से, ब्रम्हा जी;
कैलाश से, शिव जी; और पृथवी से मेरी तरफ से;
दिवाली मुबारक!

दीपक की रौशनी, पटाखों की आवाज, सूरज की किरणे,
खुशियों की बोछार, चन्दन की खुशबु, अपनों का प्यार,
मुबारक हो आप को दिवाली का त्यौहार

गमग जगमग दीप जल उठे, द्वार द्वार आए दीपावली।
दीपावली के इस पावन अवसर पर आपको एवं आपके परिवार को हार्दिक शुभकामनाएँ।

रोशन हो दीपक और सारा जग जगमगाए, लेके साथ सीता मैया को राम जी हैं आये,
हर शहर लगे मनो अयोध्या हो, आओं हर द्वार हर गली हर मोड़ पे हम दीप जलाएं !!

रोशनी से हो रोशन हर लम्हा आप का,
हर रोशनी स्सजे इस साल आपके आँगन में
यह दिवाली आपके लिए मंगलमय हो!!

पल-पल सुनहरे फूल खिले, कभी न हो काटो की सामना,
जिंदगी आपकी खुशिया से भरी रहे, दीवाली पे हमारा यही शुभकामना।

लक्ष्मी जी विराजें आपके द्वार सोने चांदी से भर जाए आपका घर-बार.
जीवन में आयें खुशियाँ आपार…शुभकामनाएं हमारी करें स्वीकार।

फूल की शुरुआत कली से होती है..जिन्दगी की शुरुआत प्यार से होती है.
प्यार की शुरुआत अपनों से होती है..अपनों की शुरुआत आपसे होती है
“ॐ दिवाली की हार्दिक शुभकामनाएँ ॐ”

दीप जलते रहे मन से मन मिलते रहे गिले सिकवे सारे मन से निकलते रहे
सारे विश्व मे सुख-शांति की प्रभात ले आये ये दीपो का त्योहार खुशी की सोंगात ले आये

दीये से दीये को जला कर दीप माला बनाओ , अपने घर आंगन को रौशनी से जगमगाओ,
आप और आप के परिवार की दीवाली शुभ और मंगलमय हो

धन लक्ष्मी से भर जाये घर हो वैभव अपार खुशियो के दीपो से सज्जित हो सारा संसार
आंगन आये बिराजे लक्ष्मी करे विश्व सत्कार मन आंगन मे भर दे उजाला दीपो का त्योहार.!

दीप जलते जगमगाते रहे, हम आपको आप हमे याद आते रहे,
जब तक ज़िंदगी है, दुआ है हमारी, आप चाँद की तरह ज़गमगाते रहे।
“शुभ दीवाली”

“ये रोशनी का पर्व है, दीप तुम जलाना,जो हर दिल को अच्छा लगे, वो गीत तुम गाना
दुःख दर्द सारे भूलकर सबको गले लगाना,दिवाली के इस त्योहार को बस खुशियों से मनाना।”

“दीवाली पर्व है खुशियों का, उजालों का, माँ लक्ष्मी का
इस दीवाली आपकी जिंदगी खुशियों से भरी हो, दुनिया उजालों से रोशन हो,
घर पर माँ लक्ष्मी का आगमन हो।”

दीप से दीप जले और खूबसूरत समा हो जाए
अमावस की अंधेरी रात भी रोशन हो जाए
भुला के अपना पराया सब गले मिले
और खुशियों की बरसात हो जाए

जगमग दीपो की माला, चारो और है निर्मल उजाला
दहलीज़ पर सजी है सुंदर रंगोली ,मीठे पकवानो सी है सबकी बोली
चलो भूले मत भेद दिल के, दीपवाली मनाए आज फिर मिल के

होगी रौशनी और सजेगे घर और बाजार
मिल कर गले एक दूजे के बनायेगे खुशियों का त्यौहार,
देखो आ रही है दिवाली
हा जी आ रही है दिवाली हो जाओ तैयार..

दिवाली का है यह प्यारा त्यौहार
लेकर आयें खुशियाँ आपार
माँ लक्ष्मी विराजे आपके द्वार
दिवाली की शुभकामनाएँ हमारी करे स्वीकार

रोशन हो दीपक और सारा जग जगमगाऐ
लिये साथ सीता मैया को राम जी हैं आऐ
हर शेहर यूँ लगे मानो अयोधया हो
आओ हर द्वार हर गली हर मोड़ पर हम दीप जलाएँ॥

You may also like...