Moral Story

एक गाँव में किशोर नामक एक किसान रहता था जिसके पास बहुत सारी जमीन थी, जिसमें से वो बहुत सारे अनाज उगाता था और अपने परिवार की सारी जरूरतो को पूरा करता था, इससे वो और उसका परिवार बहुत ख़ुश भी था।

एक दिन उसके घर एक जोहरी आया और वो किसान को हीरों के बारे में बताने लगा, जोहरी ने किसान से कहा कि अगर तुम्हारे पास इस उंगली की आधे जितनी size का हीरा हो तो तुम पूरे एक राज्य को खरीद सकते हो और अगर पूरे उंगली के size की हो तो पूरा देश।

जोहरी के इस बात से किसान का दिमाग एक दम चकाचौंध हो गया और रात भर उसको नींद नहीं आयी इसी बात को सोच सोच कर।

सुबह उठकर उसने निर्णय लिया कि परिवार वालो का देखभाल करने के लिये वो अपना सारा खेत बेंच देगा और हीरे की खोज में निकल जायेगा।और उसने अपना खेत एक श्याम नाम के किसान को बेंच दिया और खुद हीरा खोजने के लिये निकल गया। वो दुनिया भर के कई देशों जैसे अमेरिका, कनाडा, पेरिस में जाकर हीरे की खोज की लेकिन हीरा उसे कहीं भी नहीं मिला और अंत में उसने हार मानकर घर लौटने का सोचा।

किशोर किसान के घर लौटने से पहले, श्याम किसान एक दिन अपने ऊँट को पानी से नहला रहा था, नहलाया हुआ गंदा पानी श्याम के उसी खेत के एक छोटे से नाली से होकर बह रहा था जो उसने किशोर किसान से खरीदे थे।

नाली में कुछ पत्थर पड़े हुए थे जो पानी और सूरज की रोशनी पाकर चमकने लगते थे। उसी दिन वो जोहरी वहा से गुजर रहा था और उसकी नजर उस पत्थर पर पड़ी और उसने श्याम से पूछा कि “किशोर जी लौटकर आ गये क्या?”

श्याम बोला नहीं तो।

जोहरी ने पूछा फिर वो हीरा कहां से आया और उसे वहा मिट्‍टी में किसने फेंक दिया है।

श्याम बोला वो हीरा नहीं पत्थर है जो पूरे खेत में पड़ा हुआ है और जब इस पर पानी और रोशनी पड़ती है तो ये चमकने लगता है।

जोहरी ने एक पत्थर उठाकर check किया तो सच में वो हीरे ही थे जो पूरे खेत में पड़े हुए थे जिनसे देश तो को पूरा एक planet भी खरीदा जा सकता था।

सीख:

 चीजें हमारे अंदर ही छुपी होती हैं पर हम उन्हें बाहर ढूँढते रहते हैं।

हमारे अंदर talent और power की कमी नहीं है, बस जरूरत है तो उसे पहचानने की।

Today's Special Discounted Deals

You may also like...