Funny Story

 एक बार मेढ़क का एक समूह एक जंगल में घूमने के लिये निकला, वो जा रहे थे कि रास्ते में एक कुँआ आया और 2 मेढ़क उसमें गिर गये।

ऊपर बचे सभी मेढ़क कुएँ की गहरायी को देखकर डर गये और नीचे गिरे मेढकों को बोलने लगे कि अब तुम बाहर नहीं आ पाओगे लेकिन उन दोनों ने उनकी बातों को नजरअंदाज किया और कुएँ से बाहर आने के लिये प्रयास करते रहे।

उन दो मेढकों के इतनी मेहनत के बाद भी ऊपर से सारे मेढ़क ये बोले ही जा रहे थे कि रहने दो तुम बाहर नहीं आ सकते, कुँआ बहुत गहरा है, और उन दोनों में से एक मेढ़क ने ऊपर वालो की बात सुनकर प्रयास करना बंद कर दिया और मौत के और करीब चला गया लेकिन दूसरा मेढ़क अपनी पूरी ताकत लगाकर कूदता रहा, प्र्यास करता रहा।

ऊपर के मेढ़क उसे भी प्रयास करने से मना कर रहे थे लेकिन उसने हिम्मत नहीं हारी और एक ऐसी छलांग लगायी की वो कुएँ से बाहर आ गया।

उस कुएँ से बाहर निकलने के बाद सब उस मेढ़क से पूछने लगे “तुम हमें सुन नहीं रहे थे क्या?”

उस मेढ़क ने कहा कि वो बहरा है और उसे लगा कि बार बार मेरे साथी मुझे प्रोत्साहित कर रहे हैं।

Today's Special Discounted Deals

You may also like...