Funny STORY

 एक समय की बात है एक गाँव में एक कंजूस इंसान एक आलीशान बंगले में रहता था, बंगले के अंदर उसने एक खूबसूरत सा बगीचा भी लगाया हुआ था।

कंजूस इंसान के पास कुछ सोने के सिक्के थे जिनको वो बगीचे में एक गड्ढे के अंदर कुछ पत्थरों से दबाकर रखता था।

रोज सोने से पहले वो उस बगीचे में जाता और सोने के सिक्कों को एक बार गिनकर फिर से उसी पत्थर के नीचे गड्ढे में दबा देता।

एक दिन वो गड्ढे में से सोने के सिक्के निकालकर गिन रहा था कि उसे एक चोर ने देख लिया और जैसे वो इंसान रात को सोने के लिये गया, चोर सारा सोने का सिक्का लेकर चला गया।

सुबह उठकर सोने के सिक्कों को बगीचे में न पाकर वो कंजूस इंसान जोर-जोर से चिल्लाने लगा।

ये बात जब उसके पड़ोसियों को पता चली तो उन्होंने उस कंजूस इंसान से कहा कि तुम उन सोने के सिक्कों को वहा बगीचे में क्यों रखते थे, अगर तुम इनको घर के अंदर रखते तो कोई चुरा भी नहीं पाता और जब तुम्हें खर्च करने के लिये उसकी जरूरत पड़ती तो तुम उसे आसानी से ले भी सकते थे।

खर्च ? कंजूस इंसान बोला – न तो मैंने अभी तक उन सोने के सिक्कों से कुछ खरीदा है और न ही खरीदने वाला था।

ये सुनकर पड़ोसी बोले जब तुझे उससे कुछ खरीदना ही नहीं था केवल रखे ही रहना था तो फिर रोता क्यों है, सोने के सिक्कों की जगह पत्थर के टुकड़ों को रख दे, इनकी (भाव) value भी तेरे सोने के सिक्कों जितनी ही है।

सीख: : किसी चीज का महत्व तब तक ही होता है जब तक वो आपके काम आये अब चाहे वो सोने का सिक्का हो या फिर पत्थर का टुकड़ा।

You may also like...