Romantic Shayri

Woh Kah Ke Chale Itni Mulaqat Bahut Hai,
Maine Kaha Ruk Jao Abhi Raat Bahut Hai.
वो कह के चले इतनी मुलाकात बहुत है,
मैंने कहा रुक जाओ अभी रात बहुत है।

Aansoo Mere Thum Jaye To Fir Shauq Se Jana,
Aise Mein Kahan Jaoge Barsaat Bahut Hai.
आंसू मेरे थम जाएँ तो फिर शौक़ से जाना,
ऐसे में कहा जाओगे बरसात बहुत है।

Woh Chandni Ka Badan Khushbuon Ka Saya Hai,
Bahut Azeez Humein Hai Magar Paraya Hai.
वो चांदनी का बदन ख़ुशबुओं का साया है,
बहुत अज़ीज़ हमें है मगर पराया है।

Utar Bhi Aao Kabhi Aasman Ke Jheene Se,
Tumhein Khuda Ne Humare Liye Banaya Hai.
उतर भी आओ कभी आसमाँ के ज़ीने से,
तुम्हें ख़ुदा ने हमारे लिये बनाया है।

Today's Special Discounted Deals

You may also like...