Love Shayri

um bhuja kar chal to diye meri yaadon ke cheeragh
kiya karoge agar rashte mein kahi raath ho gayi

तेरे बाद हमने दिल का दरवाज़ा खोला ही नहीं
वरना बहुत से चाँद आए इस घर को सजाने के लिए

na kar mohabaat tere bas ki baat nahi
jo dil se mohabbat karte hai wo dil tere pass nahi

हमारी शायरी पर तो लोग वह वह करते है
तो सोचों वो कैसा होगा जिसके खातिर हम श्स्यारी करते ह!


jhukna sirf ushi ke aage jiske dil mein
aapko jhukta dekhne ki aadat na ho

मुझसे नफरत कर बेशक कर पर उतनी ही कर
जिनती तूने मुझसे मोहब्बत की थी

khush rahena ho to apni zindagi mein ek baat shumaar karlo
ma mile koi apne jaisa to khud se piyaar karlo

ज़िन्दगी में कभी किसी को बेकार मत समझना
कियो की बंद घडी भी दिन में दो बार सही समय बताती ह!


aa likh do tere bayin haath li halethi pr ki mujhe tujhse piyaar hai
suna hai dil se judi hoti hai is haath ki nasein

निकाल दूंगा तुझे में अपनी ज़िन्दगी से भीगे कागज की तरह
ना लिखने के काबिल छोडूंगा ना जलने के काबिल

mohabbat rang laati hai jab dil se di l se milta hai
mushkil to ye hai ki dil badi mujhskil se milte hai

याद रहेगा ये दौर भी हमको उम्र भर के लिए
के कितना तरसे थे हम ज़िन्दगी में किसी शख्स के लिए!

Today's Special Discounted Deals

You may also like...