Funny Shayri

Dosto Ham Unhen Mud Mudkar Dekhate Rahe,
Aur Vo Hamen Mud Mud Kar Dekhte Rahe,
Vo Hamen, Ham Unhen, Vo Hamen, Ham Unhen,
Kyuki Pareeksha Me Na Unhen Kuch Aata Tha Na Hame.

दोस्तो हम उन्हें मुड़ मुड़कर देखते रहे,
और वो हमें मुड़-मुड़ कर देखते रहे,
वो हमें हम उन्हें, वो हमें हम उन्हें,
क्योंकि परीक्षा में न उन्हें कुछ आता था न हमे।

Jab Darwaja Kholne Gaye To Chehre Par Hasi Thi,
Darwaja Khola To Aankhon Me Aansu Dil Me Bebasi Thi,
Jyaada Mat Soch Pagle,
Meri Ungali Darawaje Mei Phansei Thi,

जब दरवाजा खोलने गये तो चेहरे पर हसी थी,
दरवाजा खोला तो आँखों में आँसू दिल में बेबसी थी,
ज्यादा मत सोच पगले,
मेरी ऊँगली दरवाजे में फंसी थी,

You may also like...