Funny Shayri

फिजाओं के बदलने का इंतज़ार मत कर
आँधियों के रुकने का इंतज़ार मत कर
पकड़ किसी को और फरार हो जा
पापा की पसंद का इंतज़ार na kr.


teri dosti mein hum deewane ho gaye
tujhe apna banate banate begane ho gaye
pukar le ek baar piyaar se aye dost
bandar ki awaaz sune zamane ho gaye

आपकी याद में एक शायर अर्ज़ किया है
आज है मंगल कल था पीर-वह-वह
कभी तो कुछ भेजा कर फकीर!


dar pok hai wo log jo online aane se darte hai
sala jigar chahiye time barbaad karne k liye

इश्क में ख्याल बहुत है इश्क के चर्चे बहुत है
सोचते है हम भी करले इश्क पर सुना है इश्क में खर्चे बहुत है!

jitni choti baat par gabbar goli nahi marta
unti choti baat se aaj kal ladkiyan block maar deti hai

और भी चीजें बहुत सी लुट चुकी है दिल के साथ
ये बताया दोस्तों ने इश्क फरमाने के बाद
इसलिए कमरे की एक एक चीज़ चेक करता हूँ
एक तेरे आने से पहले एक तेरे जाने के बाद!

Today's Special Discounted Deals

You may also like...