Category: Ghazals

Top Motivational Ghazal – प्रेरणादायक ग़ज़लें

Top Motivational Ghazal – प्रेरणादायक ग़ज़लें

आबाद रहेंगे वीराने शादाब रहेंगी ज़ंजीरें: हफ़ीज़ मेरठी आबाद रहेंगे वीराने शादाब रहेंगी ज़ंजीरें जब तक दीवाने ज़िंदा हैं फूलेंगी फलेंगी ज़ंजीरें आज़ादी का दरवाज़ा भी ख़ुद ही खोलेंगी ज़ंजीरें टुकड़े टुकड़े हो जाएँगी...

हकीक़त भी यहीं है…

हकीक़त भी यहीं है…

  हकीक़त भी यहीं है… हकीक़त भी यहीं है और है फ़साना भी, मुश्किल है किसी का साथ निभाना भी। यूँ ही नहीं कुछ रिश्ते पाक होते हैं, पल में रूठ जाना भी पल...

गजल : कुछ बातें अधूरी हैं…

गजल : कुछ बातें अधूरी हैं…

कुछ बातें अधूरी हैं, कहना भी ज़रूरी है, बिछड़ना मजबूरी था, मिलना भी ज़रूरी है। आज सुन भी जाओ, ये फलसफा जो मजबूरी है, दिल तोड़ना फिर सिलना, ये कैसी फितूरी है। दिल के...

Gajal

हाथ से बीतते हुए लम्हों को कैसे रोकूँ,जो मुकद्दर-ए-ज़िन्दगी है उसे कैसे टोकूं,खुदा न करे कि ऐसा लम्हा आये,जो सारी ख्वाहिशों को संग ले जाए,इजाज़त बस खुदा से इतनी चाहिए,जितनी भी ज़िन्दगी है बस...

Gazal

हाथ से बीतते हुए लम्हों को कैसे रोकूँ,जो मुकद्दर-ए-ज़िन्दगी है उसे कैसे टोकूं,खुदा न करे कि ऐसा लम्हा आये,जो सारी ख्वाहिशों को संग ले जाए,इजाज़त बस खुदा से इतनी चाहिए,जितनी भी ज़िन्दगी है बस...

ग़ज़ल

कोई जाता है यहाँ से न कोई आता है,ये दीया अपने ही अँधेरे में घुट जाता है। सब समझते हैं वही रात की किस्मत होगा,जो सितारा बुलंदी पर नजर आता है। मैं इसी खोज...

ग़ज़ल

कुछ बातें अधूरी हैं, कहना भी ज़रूरी है, बिछड़ना मजबूरी था, मिलना भी ज़रूरी है।   आज सुन भी जाओ, ये फलसफा जो मजबूरी है, दिल तोड़ना फिर सिलना, ये कैसी फितूरी है।  ...

ग़ज़ल

तमन्ना छोड़ देते हैं… इरादा छोड़ देते हैं,चलो एक दूसरे को फिर से आधा छोड़ देते हैं। उधर आँखों में मंज़र आज भी वैसे का वैसा है,इधर हम भी निगाहों को तरसता छोड़ देते...

गजल

खूबसूरत शहर, ये अलग बात हैरोज बरसे कहर, ये अलग बात हैदूध, घी की नदी मुल्क में बह रहीपी रहे है जहर ये अलग बात हैकोई तूफां समंदर में आता नहींकांपती है लहर ये...

ग़ज़ल

क्या हक़ीक़त कहूं कि क्या है इश्क़ – मीर तक़ी मीर क्या हक़ीक़त कहूं कि क्या है इश्क़हक़-शनासों के हां ख़ुदा है इश्क़दिल लगा हो तो जी जहां से उठामौत का नाम प्यार का है इश्क़और तदबीर...